Thursday, October 1, 2020 12:24 PM
Breaking News

प्राइवेट अस्पतालों से दिल्ली सरकार ने गरीब कोरोना मरीजों के इलाज़ की मांगी रिपोर्ट

राजधानी दिल्ली में कोरोना के मामले लगातार तेजी से बढ़ रहे हैं। सरकारी अस्पतालों के अलावा राजधानी के प्राइवेट अस्पतालों में भी मरीजों का इलाज चल रहा है। बढ़ते मरीजों की संख्या की वजह से अस्पतालों पर लगातार दबाव बढ़ रहा है।

दिल्ली सरकार ने राष्ट्रीय राजधानी में स्थित प्राइवेट अस्पतालों से रिपोर्ट मांगी है कि उन्होंने आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (EWS) के कितने कोराना संक्रमित और गैर कोरोना मरीजों का इलाज किया है.

बढ़ते मरीजों की संख्या की वजह से अस्पतालों पर लगातार दबाव बढ़ रहा है। कोरोना के मरीजों का इलाज कर रहे शहर के 8 प्राइवेट अस्पतालों के 80 फीसदी बेड फिलहाल इस्तेमाल किए जा रहे हैं।

दिल्ली सरकार के मुताबिक यह अस्पताल 50 बेड से ज़्यादा की क्षमता वाले हैं और इनको जमीन रियायती दरों पर दी गई थी. इसलिए इनको EWS कोटा यानी कुल बिस्तरों का 10 फीसदी गरीबों के लिए सुरक्षित रखऩा होता है.

Check Also

65 वर्षों से ज़िहरीले सांपों की मदद से यहाँ ये शख्स इंसानों के साथ करवाता है ऐसा काम…

आमतौर पर लोग सांप को देखते ही डर के मारे वहां से भागने लगते हैं …