Saturday, December 7, 2019 2:16 AM
Breaking News

मुलायम सिंह सपा नेताओं से बोले- गरीब का जन्मदिन मनाइए, तब समझूंगा मेरा जीवन सफल

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के संरक्षक तथा उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव का 81वां जन्मदिन आज प्रदेश के हर जिला में मनाया जा रहा है। मुलायम सिंह यादव ने समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव तथा वरिष्ठ नेताओं के साथ सपा के दफ्तर में लड्डू रूपी केक काटा। जन्मदिन को बेहद भव्य तरीके से मनाने को लेकर खफा मुलायम सिंह यादव लोगों के काफी मनाने के बाद समाजवादी पार्टी के कार्यालय पहुंचे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव को उनके जन्मदिन पर बधाई दी।

मुलायम सिंह यादव ने अपने 81वें जन्मदिन पर पूर्व राज्यसभा सदस्य उदय प्रताप सिंह के साथ केक काटा। इस मौके पर उनके साथ विधान परिषद में पार्टी के नेता अहमद हसन की मौजूद थे। इस मौके पर उन्होंने वहां मौजूद लोगों को संबोधित भी किया। मुलायम सिंह यादव ने कहा कि पार्टी के कार्यकर्ता अधिक सक्रिय हो तो और बेहतर होगा। उन्होंने कहा कि आगे के समय में पार्टी नौजवानों के हाथ होगी। इसी कारण नौजवानों को आगे आना चाहिए। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी के नेता गरीबों का जन्मदिन मनाएं। जितने गरीब है उनका जन्मदिन मनाइये। किसी गरीब का जन्मदिन मनाइये तब हम समझेंगे की हमारा जीवन सफल हुआ। बुंदेलखंड में एक महिला ने संगठन बनाकर त्यौहार के दिन गरीबों के साथ त्यौहार मनाया। आप लोग भी उनकी तरह बनो।

मुलायम सिंह यादव ने कहा कि आप लोगों ने हमारा जन्मदिन मनाया है। जिससे कि हमारी जिम्मेदारी बढ़ गई है। अन्याय का विरोध न्याय का साथ देना है यही मुलायम सिंह यादव है। जितने जवान हैं वो भी आगे चल कर मुलायम सिंह बने। नौजवान हमारी तरह हो जायें, यही सच्चा सम्मान है। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी के लोग गरीबों तथा बेसहारा लोगों के लिए लड़ रहे हैं। अभी तो देश में बहुत समस्याएं। इसके बाद भी यहां पर आरोप-प्रत्यारोप चल रहा है। कुछ नेता और कार्यकर्ता जनता की बात कहते हैं।

समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव के 81वें जन्मदिन को लेकर शहर भर में बधाई संदेश देते हुए पोस्टर और होर्डिंग्स लगाए गए हैं। सपा व प्रसपा दोनों ही पार्टियां मुलायम सिंह यादव के जन्मदिन को खास बनाने के लिए अलग-अलग कार्यक्रमों का आयोजन कर रहे हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सपा के संरक्षक मुलायम सिंह यादव को उनके जन्मदिन पर बधाई दी है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने सपा संस्थापक के जन्मदिन के मौके पर ट्वीट करते हुए उन्हें बधाई दी और लिखा कि उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री श्री मुलायम सिंह यादव जी को जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं। मैं प्रभु श्री राम से उनके स्वस्थ, सुदीर्घ, समृद्ध एवं सक्रिय जीवन की कामना करता हूं।

यादव कुनबे में एकजुटता दिखने के आसार नहीं दिख रहें। मुलायम सिंह यादव के जन्मदिन पर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) और समाजवादी पार्टी (सपा) दोनों अलग-अलग आयोजन कर रही हैं। शिवपाल सिंह यादव ने सैफई में इस अवसर पर विशाल दंगल तथा अन्य रंगारंग कार्यक्रमों का आयोजन किया है। प्रसपा कार्यकर्ता जन्मदिन को एकता दिवस के तौर पर मना रहे हैं। सैफई में विराट दंगल हो रहा है। शिवपाल सिंह यादव सैफई में हैं।

दूसरी ओर समाजवादी पार्टी प्रदेश कार्यालय में मुख्य कार्यक्रम करने के अलावा जिलों में भी समारोहों का आयोजन कर रही है। लखनऊ में मुलायम सिंह यादव के आवास पर कार्यकर्ताओं की भारी भीड़ एकत्र है। यह लोग डीजे के साथ ही ढोल-नगाड़ा और बग्धी लेकर पहुंचे हैं। नेताजी के जन्मदिन का कार्यक्रम यहां समाजवादी पार्टी के कार्यालय पर हो रहा है।

Twitter पर छबि देखें
पिछले जन्मदिन पर भी अलग-अलग थे अखिलेश व शिवपाल

मुलायम सिंह गुरुवार को अचानक दिल्ली से लखनऊ पहुंचे। पिछले जन्मदिन के मौके पर पुत्र अखिलेश और भाई शिवपाल सिंह यादव, दोनों के साथ अलग-अलग केक काटा था। इस दौरान नेताजी ने दोनों की ही पार्टियों को आशीर्वाद देकर राजनीतिक पंडितों को भी चकरा दिया था। नेताजी के जन्मदिन को धूमधाम से मनाने के लिए दोनों दल ने खास तैयारी की है। उल्लेखनीय है कि अस्वस्थ चल रहे मुुलायम सिंह के आगमन को लेकर भी संशय बना था। माना जा रहा था कि संसद का सत्र चलने के कारण मुलायम सिंह का आना संभव न होगा। शिवपाल यादव का भी कहना था कि संसद का सत्र चल रहा है। इसी कारण नेताजी का स्वास्थ्य कारणों से आ पाना मुश्किल है।

शिवपाल को फिर झटका

प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने मंगलवार को परिवार में एकजुटता होने की वकालत करतेे हुए मुलायम सिंह यादव का जन्मदिन 22 नवंबर को एक साथ मनाने की उम्मीद जतायी थी। इतना ही नहीं, शिवपाल सिंह ने 2022 में अखिलेश यादव के मुख्यमंत्री बनने की कामना करते हुए आपस में मेल का प्रस्ताव भी रखा था। दूसरी ओर, शिवपाल सिंह यादव की पेशकश पर समाजवादी पार्टी की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं की गई। अलबत्ता सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने गुरुवार को आगामी विधानसभा अकेले ही लडऩे का ऐलान कर चाचा शिवपाल सिंह यादव के गठबंधन प्लान पर पानी फेर दिया। सपा नेताओं का मानना है कि प्रसपा से मेल की फिलवक्त कोई संभावनाएं नहीं दिखायी देती। शिवपाल सिंह के अलग होने से सपा को जो भी नुकसान होना था वो हो चुका है। मेल करके दूसरा पावर सेंटर बनाने से समाजवादी पार्टी का कुछ भला नहीं होगा।

Check Also

भारत और जापान के बीच पहली 2+2 वार्ता आज

नई दिल्लीI भारत और जापान के बीच पहली रक्षा और विदेश मंत्री स्तर 2+2 वार्ता ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *